चिड़िया का आत्मविश्वास | {Self-confidence} आत्मविश्वास पर कहानी

चिड़िया की आत्मविश्वास की कहानी ( Aatmavishvas ki kahani )

एक बार की बात है । एक चिड़िया लम्बी उड़ान के बाद समुन्द्र किनारे एक पेड़ पर रुकी और उस पेड़ की एक टहनी पर आराम करने लगी।

पेड़ समुन्द्र के किनारे था इसलिए चिड़िया को समुन्द्र का दृश्य बहुत सुन्दर दिख रहा था और हवा भी मन्द और आरामदेह थी और साथ ही साथ वह खुद को सुरक्षित महसूस कर रही थी क्योकि वहॉ उसे किसी जंगली जानवर का डर नही था ।

अभी चिड़िया को पेड़ की टहनी पर बैठे कुछ समय ही हुआ था कि हवा की रफतार तेज होने लगी और देखते ही देखते हवा ने तुफान का रूप ले लिया और पेड़ की डाली तेज हवा की झोके से बार-बार तेजी से नीचे लटकती और फिर ऊपर आती ।

जल्द ही चिड़िया को आभास हुआ वह जिस टहनी पर बैठी है वह हवा के झोके से कभी भी टूट सकती है लेकिन तब भी चिड़िया उसी टहनी पर बनी रही ।

चिड़िया को किसी प्रकार की चिन्ता नही थी की आँधी कितनी भी तेज हो जाये या पेड़ की टहनी टूट जाये क्योकि उसको दो चीजो पर पूरा भरोसा था।

पहला – चिड़िया को पता है  वह बिना टहनी के रह सकती है क्योकि उसे पेड़ के एक टहनी से ज्यादा अपने दो पंखो पर भरोसा है।

दूसरा- पेड़ की एक टहनी टूटने के बाद वह कुछ देर के लिए पेड़ की दूसरी टहनी पर आराम कर सकती है।

Moral- Believe in Yourself (स्वमं पर विश्वास) करें।  सफलता आपकी है।

इन्हे भी पढ़े, आपको पसन्द आयेगा

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •