Coronavirus Par Nibandh – कोरोना वायरस पर निबन्ध

अगर आप भी अन्य छात्रो की तरह सबसे आसान और याद हो जाने वाले निबन्ध की तलाश कर रहे है तो आप सही जगह पर है क्योकि यह पोस्ट सभी क्लास के बच्चो के लिए जिसमे 200 से 250 शब्दो की सबसे आसान शब्दो की प्रयोग से कोरोना वायरस ( Covid- 19 ) पर निबन्ध ( Eassy ) लिखा है ।

Coronavirus के निबन्ध को मैने आपके लिए दो भागो मे बॉटा है

  1. पहला लगभग 200 शब्दो के निबन्ध मे जिसे आप अपने जरूरत के अनुसार 100 शब्दो ( words ) मे भी कर सकते है ।
  2. और दूसरा लगभग 400 शब्दो का निबन्ध है जो आपको आपकी इच्छा के अनुसार कम किया जा सकता है ।

 

आपको कोरोना वायरस पर निबन्ध को पढ़ने के  फायदे क्या-क्या है ? 

मै नही चाहता की आपका समय बर्बाद हो इसलिए इन निबन्ध के इन फायदो को जानना जरूरी है । जो आपको निबन्ध याद करने मे आपको आसानी प्रदान करेंगा ।

  • इसमे आपको दो प्रकार की निबन्ध मिलेगी 1) पहले निबन्ध मे आपको बिना Heading के पूरा 100 से 200 शब्दो मे निबन्ध  मिलेगा । जबकि इसी पोस्ट मे दूसरे निबन्ध मे आपको निबन्ध की सभी मुख्य-मुख्य लाइनो को Head Line के रूप मे लिखकर उस पर सुन्दर व्याख्या मिलेगी ।
  • आप आसानी से अपने जरूरत के हिसाब से निबन्ध को लिख पायेगे , चाहे आप कोरोना वायरस निबन्ध को कम से कम या ज्यादा से ज्यादा शब्दो मे लिखना चाहते है ।
  • इन Coronavirus पर निबन्ध को याद करना बहुत आसान है ।

तो चलिए बिना किसी देर किये Corona पर निबन्ध की शुरूवात करते है ।



इन्हे भी जरूर पढ़े –



Coronavirus Par Nibandh In Hindi 100-200 Words

covid-19-Eassy-in-Hindi

मनुष्य को कई बार महामारीयो का सामना करना पड़ा है ।

वर्तमान मे कोरोना वायरस से पूरे विश्व जूझ रहा है , कोरोना वायरस द्वारा जनित COVID-19 नामक बिमारी से पूरा विश्व त्रस्त है । इसने एक भंयकर महामारी का रूप धारण कर लिया है ।

बड़े-बड़े सुविधा सम्पन्न देशो का आर्थिक व स्वास्थय ढाँचा चरमरा-सा गया है ।

भारत मे भी यह वायरस अपने पैर पसार चुका है । भारत की सघन जनसंख्या के कारण इसके फैलने से स्थिति चिंतनीय है । इस कठिन स्थिती मे भारत के प्रत्येक नागरिक को दृढ़ संकल्प , इच्छाशक्ति और संयम से कार्य करना चाहिए ।

इस संक्रमण से बुखार, जुकाम , सांस लेने मे तकलीफ नाक बहना और खराश जैसी समस्याये उत्पन्न होती है । कोरोना वायरस संक्रमित व्यक्ति के खाँसने या छीकने पर छींटे निकलते है । ये किसी सतह पर गिरते है जिसे छूने से दूसरे व्यक्ति को संक्रमण हो जाता है । क्यकि यह वायरस मुँह , नाक के माध्यम से शरीर प्रवेश करता है ।

अभी तक इस बीमारी का अन्य लोगो मे प्रसार भीड़ मे जाने या सार्वजनिक स्थानो से हुआ है ।

देश के कई राज्य कोरोना से प्रभावित है । वैज्ञानिक इस बीमारी की कोई वैक्सीन अभी तक नही खोज सके है । ऐसे मे बचाव ही एकमात्र उपाय है ।

घर मे रहकर ही लोगो के संपर्क मे आने से बचा जा सकता है । घर से बाहर निकलने पर भी सोशल डिस्टेंसी का पालन करना बेहद जरूरी है । कुछ दिनो तक हम नियमो का सख्त पालन कर इस संकट से भारत को बचा सकते है ।

कोरोना से जल्द निजाद पाने के लिए संदिग्धो की जाँच भी बेहद जरूरी है । आवश्यक सेवाओ जैसे मेडिकल , पुलिस आदि के लोग स्वयं को जोखिम मे जालकर मानवता की सेवा कर रहे है । हमे उनके प्रति अपना सम्मान प्रदर्शित करना चाहिए ।

यदि हम सभी साहस से सामना कर तो 135 करोड़ भारतीयो से इस युद्ध मे कोरोना हारेगा , भारत जीतेगा ।

 

Essay On Coronavirus In Hindi 400 Words

कोरोना-वायरस-पर-निबंध
essay on coronavirus in Hindi

 

करोना वायरस ( COVID-19 ) एक भयावह बिमारी का नाम है । जो की चीन के बूहान शहर से फैला है । लेकिन अब यह कोरोना वायरस का संक्रमण पुरी दुनियाभर मे तेजी से फैल चुका है ।

कोरोना वायरस मानव जीवन के लिए संकट है यह वायरस बहुत ही सुक्ष्म लेकिन प्रभावी वायरस होता है

विश्व का कोई भी ऐसा देश नही बचा जहाँ यह वायरस न पाया गया हो ।

यह वायरस मानव के बाल की तुलना मे 900 गुना छोटा होता है और इस तरह के वायरस को पहले कभी नही देखा गया है , जो मानव जीवन के लिए इतना खतरनाक हो ।

कोरोना वायरस का संक्रमण जिसे भी हो जाता है । उसका बच पाना बहुत ही मुश्किल हो जाता है।

 

कोरोना वायरस के लक्षण :

  1. H.O के अनुसार यह बुखार, जुकाम , खांसी , गले मे खरास , सांस लेने मे तकलीफ आदि इस बिमारी के लक्षण है ।
  2. इस बिमारी सबसे पहले व्यक्ति को बुखार आता है , इसके बाद सुखी खासी होती है और फिर एक हफ्ते बाद सांस लेने मे परेशानी होने लगती है और परेशानी अन्त मे इतनी बढ़ जाती है कि असहनीय हो जाती है और मरीज अपना जीवन खो देता है ।
  3. घर के बुजुर्ग या जिन्हे अस्थया , मधुमेह और दिल की बिमारी होती है उन्हे कोरोना से बचा पाना नामुमकिन होता है । क्योकि यह वायरस शरीर मे तेजी से फैलता है । इसके साथ-साथ घर के बच्चो को यह संक्रमण हो जाए तो बच्चो को भी बचा पाना मुश्किल हो जाता है ।

 

कोरोना वायरस कैसे फैलता है ?

कोरोना वायरस किस प्रकार से एक स्थान से दूसरे स्थान तक जाता है इसे जानना अत्यन्त जरूरी है जिसे आपके लिए हमने नीचे बताया है ।

  1. यह भयावह कोरोना वायरस किसी कोरोना संक्रमित व्यक्ति को छूने या उसके आप पास रहने से ही फैलता है ।
  2. कोरोना संक्रमित व्यक्ति के द्वारा छूई हुई किसी चीज को दूसरे व्यक्ति के छूने से भी फैल जाता है ।

 

कोरोना वायरस के संक्रमण से कैसे बचा जा सकता है ? –

जिस तरह कोरोना वायरस पुरे विश्व मे तेजी से फैल रहा है तो इस स्थिती मे इसे रोकने का मात्र एक उपाय है स्वयं को संक्रमण का शिकार होने से रोकना । जिसके लिए इन उपायो को जानना बेहद जरूरी है ।

  1. अपने मुंह और नाक को अच्छी तरह से मास्क से ढ़के ।
  2. समय-समय पर अपने हाथो को सेनेटाइजर या साबून से कम-से-कम 20 सेकण्ड तक धोएं ।
  3. कोरोना से संक्रमित क्षेत्र मे जाने से बचे अर्थात् जिन क्षेत्रो मे Covid-19 के संक्रमण का मरीज पाया गया है उस क्षेत्र मे न जाये ।
  4. दो गज की समाजिक दूरी ( Social Distance ) बनाये रखे ।
  5. किसी संक्रमित व्यक्ति के संपर्क मे आने के बाद खुद को परिवार और समाज से कम-से-कम 14 दिनो तक अलग रखे ।
  6. खासते और छीकते समय मुंह और नाक को अच्छी तरह से ढ़क कर खासे ।
  7. बहुत जरूरी होने पर ही घर से बाहर निकले ।
  8. अपने चेहरे , नाम और मुंह को छूने से बचे ।
  9. Covid-19 के प्रत्येक नई खबरो से Update रहे ।
  10. सरकार और अन्य महत्वपूर्ण व्यक्ति के अनुदेश का पालन करे ।

 

कोरोना वायरस के निबन्ध का निष्कर्ष –

पूरी दुनिया के सभी देश इस महामारी की वजह से पीड़ित है । इसलिए दुनिया की सभी सरकारे और वैज्ञानिक इस वायरस को रोकने के लिए बहुत कोशिशे कर रही है लेकिन अभी तक इसका उचित ठोस उपचार नही प्राप्त हो सका है ।

हमे बस इतना करना है कि धैर्य रखना है , सामाजिक दूरी ( Social Distance ) बनाय रखना है , सरकार द्वारा लगाये गये नियमो का पालन करे और अंतिम रूप से डॉक्टरो पर विश्र्वास रखे ।

जिससे हम और पूरा हमारा देश सुरक्षित हो सके ।



इन्हे भी आप जरूर पसन्द करेंगे –



 

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •