michael jordan life story

हैल्लो दोस्तो , आज का हमारा पोस्ट michael jordan life story पर है । आप लोगो को तो पता ही होगा Michael jordan कौन थे । वे बास्केटबाल के चेम्पियन रह चुके है और उन्हे बास्केटबाल का भगवान भी कहते है ।

तो चलिये हम आप लोगो को Michael jordan life story बताने जा रहे है जो की हमे मोटिवेट करते है हमारी Real life में ।

तो चलिये शुरू करते है शुरूआत से –

michael jordan life story

जो सपने देखने की हिम्मत रखते है ,वो पूरी दुनिया जीत सकते है ।

Friend आज मै आपको माइकल जॉर्डन की Story सुनाने जा रहा हूँ ।मुझे उम्मीद है इस कहानी से आप जरुर कुछ न कुछ सीखेंगे ।

तो चलिए शुरू करते है- माइकल जॉर्डन को बास्केटबाल का भगवान माना जाता है, जिन्होने अब सन्यास ले लिया है । माइकल बहुत ही गरीब घर से थे । वें और उनका परिवार एक छोटे से झोपड़े मे रहता था माइकल की सोच हमेशा से बड़ी थी । वे हमेशा बड़ा सोचा करते थे ।

जब वे 13 साल के थे तब एक बार उनके पिता ने उन्हे बुलाया और एक पुरानी टी-शर्ट दिखाकर पूछा – बेटा ये बताओ कितने का होगा?

इस पर माइकल ने कुछ सोचकर कहा- ये टी-शर्ट लगभग 1$ का तो होगा।

तभी उनके पिता ने कहा – जाओ और इसे 2$ मे बेचकर आओ।

फिर माइकल ने इस कपड़े को अच्छे से धो दिया , उनके घर प्रेस ना होने के कारण इन्होने कपड़े को कई कपड़ो के नीचे रख दिया ताकी वो सीधा हो सके। फिर अगले दिन सुबह कपड़े को लेकर पास के रेलवे स्टेशन जाकर पांच घंटो की मेहनत के बाद कपड़े के बेच दिया।

और बहुत खुशी के साथ घर आकर पैसे पिता को दे दिया। लगभग 15 दिनो बाद पिता जी ने फिर उन्हे बुलाकर वैसी ही टी-शर्ट देते हुए कहा- इसे 20$ मे बेचकर आओ। इस पर माइकल अचम्भित हो गये।

उन्होने कहा – पापा इसे 20$ मे कौन खरीदेगा?

इस पर पिता ने कहा – कोशिश तो करो बेटा…

इस पर माइकल ने कुछ नही कहा, वे चुपचाप वहां से चले गये। बहुत सोचने के बाद उन्होने अपने एक दोस्त की सहायता से उस टी-शर्ट पर Micky mouse का कार्टून छपवा दिया। और अमीर बच्चो के स्कूल के सामने बेचने लगे । तभी वहां से एक बच्चा अपने पिता के साथ जाते हुए उसने उस टी-शर्ट को देखा ,

उसने अपने पिता से उस टी-शर्ट को खरीदने को कहा। उसके पिता ने उस टी-शर्ट को खरीदा और बल्कि 5$ टिप भी दिया। 25$ पाकर वे खुशी खुशी अपने पिता को पैसे देते हुए सारी घटना सुनाई।

फिर कुछ दिनो बाद उनके पिता ने उन्हे बुलाकर वैसी ही टी-शर्ट को 200$ मे बेचने को कहा। इस बार माइकल बिल्कुल हक्के-बक्के रह गये । लेकिन पिता से कुछ नही कहा क्योकि वे अब तक सफल रहे। इस बार उन्होने दो से तीन दिन का समय लिया और शहर चले गये।

उस समय उस शहर मे Most popular lady आई हुई थी । माइकल भीड़ से निकल कर पुलिस का बांध तोड़ते हुए उस लेडी के पास पहुंच कर उन्होने उनसे टी-शर्ट पर उनका ऑटोग्राफ मांगा।

छोटे बच्चे को देखकर वो मना नही कर पायी । उन्होने ऑटोग्राफ दे दिया। इसके बाद माइकल टी-शर्ट लेकर एक मॉल के सामने जाकर सेल लगाई। देखते ही देखते उस टी-शर्ट के लिए वहां बहुत भीड़ जमा हो गई , बोलियां लगनी शुरु होगयी।

अन्त मे वहां उपस्थित सबसे अमीर आदमी ने 2000$ मे उस टी-शर्ट को खरीद लिया। अब जब माइकल घर आये और घर आकर उन्होने अपने पिता को पूरी बात बताई तो उनके पिता की आँखो मे आँसू आ गये। उन्होने कहा- बेटा तू कुछ भी कर सकता है । तेरे लिए कुछ भी असम्भव नही है।

तो दोस्तो इस कहानी से हमे सबसे पहली सीख जो मिलती है वो है हमारी सोच हमेशा बड़ी होनी चाहिए।

कोई भी काम असम्भव नही है , बस उस काम को करने वाला चाहिए।

तो दोस्तो मै आशा करता हूँ की आपको यो कहानी जरूर पसंद आई होगी , दोस्तो ये कोई काल्पनिक नही बल्कि एक सच्ची व्यक्ति की मिसाल है जो की अमेरिका का रहने वाला है । जिसे बास्केटबॉल का भगवान कहा जाता है।

इसी के साथ मे- रख हौसला वह मंजर भी आयेगा ,

प्यासे के पास चल कर समंदर भी आयेगा,

थक कर क्यो बैठता है ऐ मंजिल के मुसाफिर …

मंजिल भी मिलेगी जीने का मजा भी आयेगा।

इसे भी पढ़े-

Best 5 IAS UPSC Motivational book

आत्म विश्वास , आत्मबल पर कहानी

संघर्ष जरूरी है कहानी

सफलता का रहस्य

Alfred Nobel के जीवन की सच्ची घटना

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •