दिमाग से नकारात्मक सोच कैसे दूर करें ?

भारत में तनाव अन्य देशों की तुलना में सबसे ज्यादा है । Cigna TTK Health Insurance  के सर्वे के अनुसार भारत की 89  प्रतिशत लोग डॉक्टर से अपने तनाव का कारण बताने में सुरक्षित महसूस नहीं करते जिसके कारण और नकारात्मक विचार के शिकार बन जाते हैं

इसलिए आज मैं आपके लिए बिल्कुल प्रैक्टिकल चीजों को लेकर आया हूं जो आपके दिमाग में आने वाले नकारात्मक सोच को दूर करने में आपकी मदद करेगा

नोट: अगर आप नेगेटिव थिंकिंग को दूर करने के लिए किसी 1 घंटे की ट्रिक जाने की उम्मीद में इस पोस्ट पर आए हैं तो यह पोस्ट आपके लिए नहीं है

क्योंकि नीचे बताई बातें आपको कम से कम 15 दिन तक रोजाना करना होगा और फिर जो असर आपको देखने को मुझे लगा आप की जिंदगी बदल देगा ।

नकारात्मक सोच को कैसे दूर करें [ Stop Negative Thoughts in Hindi ]

अपनी सोचने के तरीके को समझे

अपने सोचने के तरीके को समझे

अपनी नकारात्मक सोच को बदलने का सबसे पहला कदम, अपने खुद के सोचने के तरीके से शुरू होता है । आपको जाना होगा कि आप किस प्रकार के विचार रखते हैं।

जिसके लिए हमने नकारात्मक सोच की पोस्ट बनाई जो आपको आपके सोचने के Style को पहचानने में मदद करें ।

एक बार अपने सोचने के Style को जानने के बाद आप इसमे आसानी से बदलाव कर सकते हैं उदाहरण के तौर पर- अगर आप रोजाना घटित होने वाली बड़ी – छोटी घटनाओं को अपनी हार या जीत के नजरिए से देखने लगते हैं या आप हर चीज का होना अपनी फूटी किस्मत का होना मानते हैं 

तो आपके सोचने का Style Negative है जिसे सख्त बदलने की जरूरत है ।

Meditation की प्रैक्टिस करे

Meditation की प्रैक्टिस करे

व्यायाम आपको एक वक्त पर एक काम के लिए फोकस रखता है, यह आपकी आत्मा और अवचेतन मन को आपके विचार और भावनाओं से जोड़ता है।

जिससे आप नकारात्मक विचारों पर नियंत्रण कर पाते हैं ।

जिससे आपका दिमाग शांत रहता है और हर परिस्थिति को संभालने के काबिल बनता है ।

उपाय: रोजाना सुबह-सुबह मात्र 15 मिनट का मेडिटेशन आपको पूरे दिन के तनाव को 70% कम कर देता है ।

इसे भी जरूर पढ़े –

रोजाना अपने विचार डायरी में लिखे

रोजाना अपने विचार डायरी में लिखे

आपके जीवन मे रोजाना होने वाली घटनाओं की एक पर्सनल डायरी बनाएं । 

जिसमें प्रतिदिन आपके साथ होने वाली अच्छी और बुरी बातों को अपने अंदाज में लिखें ।

पूरे दिन में हुई अच्छी बातों को थोड़ा विस्तार से लिखें और बुरी घटनाओं में कुछ अच्छा खोजने की कोशिश करें । 

प्रतिदिन डायरी लिखने से धीरे-धीरे आप अपने विचारों को समझने लगेंगे और समय बीतने के साथ आप इसमे इतने अच्छे हो जाएंगे कि आपके मुंह से निकले हर शब्द पर आपका पूरा नियंत्रण होगा ।

जिससे आपका स्वभाव और विचार सकारात्मक रूप में परिवर्तित हो जाएगा ।

ऐसा पाया गया है जो व्यक्ति डायरी लिखने का शौकिन होता है वह अन्य व्यक्ति की तुलना में कम चिंताओं का शिकार होता है और अपनी भावनाओं को लोगों के सामने आसानी से प्रकट कर पाता है ।

अच्छे लोगों की संगति रखें

अच्छे लोगों की संगति रखें

2013 कि शोध में Notre Dame ने पाया कि जो छात्र कॉलेज के दिनो मे अपने Roommate के साथ रहा करते थे उनके कॉलेज समाप्त हो जाने के बाद भी उनके व्यवहार मे Romemate की आदतें रह जाती है ।

जो हमें बताती हैं कि हमारा जिनके साथ रोजाना उठना बैठना होता है उनका हमारे ऊपर बहुत प्रभाव होता है ।

इसलिए अगर आप हमेशा अक्सर नकारात्मक सोच के लोगों के बीच रहते हैं तो आप भी जल्द ही उनमें से एक हो जायेंगे अर्थात् जल्दी ही नकारात्मक सोच के हो जाएंगे ।

उपाय: हर संभव सकारात्मक लोगों के बीच रहने की कोशिश करें ।

जो हमेशा हर परिस्थिति में Positive Side ( सकारात्मक पहलू ) पर ही फोकस करना पसंद करते हैं और यदि आपकी साथ ऐसा संभव नहीं है तो अकेले रहना नकारात्मक लोगों के बीच रहने से 100 गुना अच्छा है ।

सकारात्मक सामग्री को ग्रहण करें

सकारात्मक सामग्री को ग्रहण करें

Negative Thinking को दूर करने के लिए, आपको नकारात्मक विचार के लिए अपने दिमाग का दरवाजा बंद करना होगा । 

और Positive विचारों के लिए हमेशा खुला रखना होगा ।

नकारात्मक सोच का सबसे बड़ा स्त्रोत T.V, YouTube और कई सारी Social Media Apps है जिनमें केवल Sexual और नकारात्मक फोटो, वीडियो, ऑडियो के जरिए आपका ब्रेनस्ट्रोम किया जाता है और आपको पता तक नहीं चलता ।

उपाय: 

  • Self-Help Books पढ़े ।
  • अपने लाइफ में लक्ष्य तय करें और उससे संबंधित Videos, YouTube जैसी ऐप पर देखे ।
  • Success Story की विडीयो देखे ।

इसे भी जरूर पढ़े- सकारात्मक विचार से होने वाले 29 फायदे

खुद को व्यस्त रखें

खुद को व्यस्त रखें

”  खाली दिमाग, शैतान का ” यह कहावत बिल्कुल सही है जब आप पूरे दिन खाली बैठे रहते हैं या कुछ खास काम नहीं रहता ।

तभी ऐसी स्थिति में आपका दिमाग कुछ न कुछ इधर-उधर की चीज और बातों पर ध्यान लगाने की कोशिश करता है ।

जहां से नकारात्मक सोच की शुरुआत होने लगती है ।

उपाय : दिमाग से निगेटिव बातों को निकालने का सबसे अच्छा उपाय खुद को Busy रखना है ।

आप अपने काम मे इतने Busy हो जाये की बेकार की बातों पर ध्यान देने का आपके पास समय ही न रहे ।

आलोचना का सामना करना सीखें

आलोचना का सामना करना सीखें

अगर आप Negative Thinking को खुद से दूर रखना चाहते हैं तो आप इस बात को जितना जल्दी समझ लेंगे उतना ही अच्छा होगा कि लोग आपको, आपके काम को और आपकी हर संभव चीज की आलोचना करेंगे और आप कुछ भी नहीं कर पाएंगे ।

बस आपको अपना काम करते रहना है: नजरअंदाज

और उनको उनका काम करने देना है: आलोचना

उपाय: 

  • आप जैसे भी है, स्वम् को स्वीकार करें ।
  • खुद को जाने
  • अपने काम पर पूरा विश्वास रखें ।

इस लाइन को भी याद रखें – ” पत्थर उसी पेड़ पर मारे जाते हैं जिस पेड़ पर फल लगे होते हैं । “

इसे भी जरूर पढ़े –

अपनी आदतो को फिर Design करें 

अपनी आदतो को फिर Design करें 

अगर चीजें समय पर या आपके अनुसार नहीं हो रही हैं । तो इस स्तिथी में आपको अपनी पूरी दैनिक चर्या बदलने की जरूरत है ।

हॉ, मै जानता हूं अपनी सभी आदतों को शुरू से शुरू करना आसान नहीं है लेकिन इसे कुछ बातों को ध्यान में रखते हुए किया जा सकता है जिसके लिए हमारे साथ बने रहे ।

उपाय : नकारात्मक सोच को सकारात्मक सोच में बदलने का अच्छा उपाय अपनी आदतों को बदलना हो सकता है ।

क्योंकि आज तक आप अपनी जिंदगी में जहां तक आए हैं वह आपकी रोजाना आदतो का परिणाम है ।

किसी नये शहर में शिफ्ट हो जाए ।

जिससे नए लोग, नई जॉब,  नई बातें आपके साथ जुड़े और आप भी इन नई चीजो के साथ नहीं आदत बनाएं जो आपके सोचने के तरीके में सकारात्मक परिवर्तन ला सके ।

नकारात्मक चीजों का बहिष्कार करें

नकारात्मक चीजों का बहिष्कार करें

यह सुनने में आपको थोड़ा अजीब लग सकता है लेकिन यह हकीकत है। आप अपनी सभी नकारात्मक विचार को किसी कागज पर लिखे और उसे अपने से दूर फेंक दें या फिर आग में जला दें

ऐसा करने से आपको आंतरिक राहत मिलेगी जिसे केवल आप ही महसूस कर पायेंगे ।

हमारी तरफ से अंतिम शब्द

अगर ऊपर बताई सभी विचारों को जीवन में उतारने के बाद भी आप अपने जीवन में नकारात्मक विचारों के कारण दिक्कतों का सामना कर रहे हैं तो आपको अपने विचार, मस्तिष्क स्वास्थ्य चिकित्सक के साथ शेयर करने चाहिए जो आपके सोचने के तरीकों को समझकर आपके नकारात्मक विचार को दूर करने का उचित उपाय बता सके ।

इसे भी जरूर पढ़े-

Positive और Negative Attitude मे अन्तर

Low Self-esteem के बारे मे जाने

High Self-esteem क्या है ?

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •