जाने किन कारणो से स्टूडेन्ट का पढ़ाई मे मन नही लगता !

पढ़ाई में मन ना लगे तो क्या करें ? यह बच्चों के सबसे ज्यादा पूछे जाने वाले सवालों में से हैं जिसे जानने के लिए हमें पढ़ाई में मन ना लगने वाले facts और कारणों को जानना जरूरी है ।

जिसकी मदद से हम इस समस्या की जड़ तक पहुंच सकते हैं और कम समय में ज्यादा पढ़कर स्कूल के होनहार बच्चों के लिस्ट में आ सकते हैं ।

तो चले बिना किसी तरह की देर किये, आपको कुल 11 प्रैक्टिकल कारणों के बारे में बताते हैं जो आपकी पढ़ाई और सफलता के बीच बाधा बने खड़ा है ।

पढ़ाई में मन ना लगने के कुल 11 कारण

Teacher से पिटाई का डर 

अगर student उम्र में छोटा है तब इस स्थिति में हो सकता है कि स्टूडेंट को पिटाई कर डार हो ।

कई बार तो स्टूडेंट को टीचर पर विश्वास नहीं होता, क्योंकि स्टूडेंट को ऐसा महसूस होता है ।

कि शायद अध्यापक जिस subject को पढ़ा रहा है उस सब्जेक्ट पर उसकी अच्छी पकड़ नहीं है या फिर टीचर का मकसद पढ़ाने के बजाय केवल मात्र पैसे कमाना ही है ।

सब्जेक्ट का कठिन होना

कुछ subject ऐसे भी होते हैं जो अन्य विषयों के मुकाबले ज्यादा मुश्किल होते हैं जिन्हें याद करने के लिए अन्य विषयों से ज्यादा फोकस और समय की जरूरत होती है ।

इस बात को स्टूडेंट अक्सर भूल जाते हैं और उन्हें लगता है कि इस सब्जेक्ट में मेरा ज्यादा समय बर्बाद हो रहा है जिसके कारण उस सब्जेक्ट से उनका लगाव कम हो जाता है और धीरे-धीरे एक ऐसा समय भी आता है जब पढ़ाई उनके बस के बाहर की लगने लगती है ।

इसे भी जरूर पढ़े-

ध्यान आकर्षित करने वाली चीजों का आस-पास होना

आज का आधुनिक युग स्टूडेंट के जीवन में बहुत सी मजेदार चीजो के साथ-साथ बहुत ही ध्यान आकर्षित करने वाले गैजेट्स भी लेकर आया है ।

 इनके बीच रहकर अपना फोकस पढ़ाई पर कर पाना बहुत मुश्किल हो चुका है ।

खासकर Smartphone इन डिवाइसो में से एक है जिसने छात्र को video game और सोशल मीडिया की दुनिया में बुरी तरह फंसा दिया है ।

निश्चित लक्ष्य ना होना

लक्ष्य आपके कार्य को दिशा प्रदान करता है इसलिए अगर आपने अपनी पढ़ाई को लेकर कोई लक्ष्य निर्धारित नहीं किया है ।

तो आज कर लें, पढ़ाई को बेहतर बनाने के लिए आपका लक्ष्य कुछ भी हो सकता है जैसे आपका लक्ष्य अपनी क्लास का टॉपर बनना हो सकता है या फिर हो सकता है आप अपने दोस्त से ज्यादा अच्छे नंबर लाकर आप खुद को क्लास का मॉनिटर बनाना चाहते हैं जो आपको पढ़ाई में हमेशा मोटिवेट करता रहेगा ।

अधूरी नींद

Student के शरीर और दिमाक को पढ़ाई के लिए पर्याप्त ऊर्जा की जरूरत होती है । जिसके लिए कम से कम 7 से 8 घंटे की नींद जरूरी होती है । और स्टूडेंट अगर इससे कम की नींद लेता है तो पढ़ाई पर फोकस नहीं कर पाना मुश्किल हो जाता है ।

 परिवारिक चिंताओं का होना

भारत में प्रति 1000 विवाहित जोड़ों में से 13 जोड़े एक-दूसरे को तलाक दे देते हैं ।

जो इस बात का सीधा संकेत है कि परिवारिक कलह स्टूडेंट लाइफ को प्रभावित करता है ।

इसका प्रभाव स्टूडेंट की पढ़ाई पर पड़ता है और स्टूडेंट पढ़ाई में रुचि होने लगता है ।

 प्रैक्टिस की कमी

” Practice Makes Man Perfect – अभ्यास व्यक्ति को कुशल बनाता है ” Math, Science जैसे Subjects में मन ना लगने का मुख्य कारण प्रैक्टिस की कमी होती है ।

 सभी सब्जेक्ट अपने आप में अलग होते हैं जिन्हें पढ़ने के तौर-तरीके भी अलग-अलग ही होते हैं । 

किसी में ज्यादा पढ़ने की जरूरत होती है तो math जैसे सब्जेक्ट में ज्यादा प्रैक्टिस की जरूरत होती है ।

Subjects के बेसिक क्लीयर  ना होना

किसी बड़े टॉपिक को समझने के लिए उस टॉपिक में प्रयोग हुए सभी छोटे-छोटे टॉपिक इस समझ जरूरी होती है ।

और अगर किसी कारणवश आपने अपनी पिछली class की पढ़ाई अच्छे से नहीं की है या आप अपने क्लास में रेगुलर नहीं रहते हैं ।

 तो इसका मतलब आपको Topic के बेसिक पर अच्छी पकड़ नहीं है ।

जो आपको क्लास में बताए गए टॉपिक को समझने में मुश्किल पैदा करते हैं इसलिए कभी-कभी basic का क्लियर ना होना आपका पढ़ाई में मन ना लगने का सबसे बड़ा कारण होता है ।

 स्टूडेंट के साथ तुलनात्मक होना

ऐसा अक्सर होता है जब पढ़ाई में अच्छे स्टूडेंट के, test या final exam में कम मार्क्स आ जाते हैं ।

स्कूल, कॉलेज में टीचर भी नॉलेज पर कम और मार्क्स पर ज्यादा फोकस करते हैं और कम मार्क के स्टूडेंट को motivate करने के बजाय loser की दृष्टि से देखते हैं जो बच्चों को पढ़ाई के प्रति Demotivate करता है ।

इसे भी जरूर पढ़े – पढ़ाई के लिए Time Table Pdf Download

पढ़ाई और नौकरी दोनों का एक साथ होना

ऐसा अक्सर पाया गया है जो व्यक्ति पढ़ाई और नौकरी दोनों एक साथ करते हैं और अगर दोनों कार्यो को जारी रखने के लिए कोई खास वजह ना हो ।

 तो वह दोनों कार्यों में से पहले पढ़ाई को छोड़ता है ।

 आमतौर पर नौकरी आठ घण्टे की होती है लेकिन इसमे 8 घण्टे से ज्यादा समय निकल जाता है और अंत में पूरे 8 घंटे काम करने के बाद पढ़ाई करने में मन नहीं लगता है ।

निष्कर्ष

पढ़ाई में मन ना लगने के लिए हमने बहुत से कारण ऊपर पढ़े और जाने ।

लेकिन सबसे बड़ा कारण जो आपकी पढ़ाई को आपसे दूर करता है वह आपके जीवन में लक्ष्य का ना होना है ।

हमें नीचे कमेंट बॉक्स में बताएं कि ऐसे कौन से कारण है जो आपको पढ़ाई करने नहीं देते ।

इसे भी जरूर पढ़े –

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •