Value of Time: समय की कीमत कहानी { Story in Hindi }

Value of Time Story in Hindi- किसी महान ने कहा है और बड़ी खुबसुरत बात कही है कि वक्त के साथ बहुत कमाल की बात होती है – अच्छा वक्त हो या बुरा वक्त दोनो गुजर ही जाता है, ज्यादा देर टिकता नही ।।

एक बार यूनान के सम्राट ने अपने वजीर को फाँसी की सजा सुनाई और फाँसी की सजा का जो वक्त रखा वो शाम 6 बजे का रखा। सम्राट ने अपने सैनिको से कहा- वजीर के घर जाओ और जाकर उन्हे खबर दो कि आज शाम 6 बजे आपको फाँसी की सजा दी जायेगी। सैनिक वजीर के घर पहुंचे और घर मे जाकर देखा तो वजीर के घर जश्म मन रहा है

बाद मे पता चला आज वजीर साहब का जन्मदिन है, घर मे पकवान बन रहे है, गाने बजाने वाले मौजूद है और दोस्त आये हुऐ है और कुल मिलाकर पुरे घर मे पार्टी का माहौल है और सब कोई खुश नजर आ रहा था। कि इसी बीच एक सैनिक ने अपनी अवाज को ऊँचा उठाते हुऐ कहा- “ वजीर साहब आपको सम्राट ने सजा सुनाई है, आज शाम 6 बजे आपको फांसी दी जायेगी।

ये सुनने के बाद सभी के चहरे खुशी से ऊतर गयें । गाना बजाने वालो ने बजाना बन्द कर दिया, गिटर वाले ने गिटार बजाना बन्द कर दिया, दोस्तो ने नाचना बन्द करके कमरे के कोने मे बैठ गयें।

वजीर ने अगल-बगल देखा और दोस्तो से कहा- सम्राट का शुक्रिया कि सम्राट ने शाम 6 बजे तक का वक्त दिया है तब तक हम  सभी मिलकर बर्थ-डे पार्टी कर सकते है।

आज मेरा जन्मदिन है और आज कुछ खास होना चाहिऐ…

दोस्तो ने कहा- क्या पागलो जैसी बात कर रहे हो, तुम्हे फाँसी की सजा दी जाने वाली है और तुम कह रहे हो गाना बजने दो, पकवान बनने दो और हम पार्टी करेगें।

इस सब के बीच वजीर ने किसी तरह मनाने की कोशिश की और पहले जैसा माहौल बनाने की कोशिश की । हांलाकी दोस्त उदास थै लेकिन फिर भी प्रार्टी फिर से शुरू हो गई।

अब सम्राट को सैनिको ने खबर पहुचाई कि वहाँ जो आपका वजीर है उसको फाँसी की खबर हमने पहुचा दी लेकिन वहां फिर भी पार्टी हो रही है। यह सुनकर सम्राट चौक गया और वजीर के घर पहुचा। पहुचकर देखते है अभी भी वैसे ही जश्का माहौल है।

उन्होने वजीर से पूछा- “ पता है ना ? पागल तो नही हो गये हो, आज शाम 6 बजे तुम्हे फांसी होने वाली है !

उसने कहा- हाँ मुझे मालूम है। मुझे शाम 6 बजे फांसी दी जा रही है लेकिन आज मेरा जन्मदिन है और आपको शुक्रिया की आपने मुझे शाम 6 बजें तक का वक्त दिया ताकि है मै अपना जन्मदिन मना सकू ।

यह सुनकर सम्राट खुश हो गये और वजीर को कहा – तुम जैसे लोग को जीने का पुरा हक है जो समय की किमत जानता है…

इसलिए तुम्हे फांसी देने का निर्णय वापस लिया जाता है ।


Read it also-


मुझे पुरी उम्मीद है कि आपको आज की स्टोरी Value of Time Story in Hindi बहुत पसन्द आई होगी…

और अगर पसन्द आई हो तो हमे FaceBook पर भी फालो कर सकते है…

अपने विचार हमे नीचे कमेण्ट बाक्स मे बताना ना भुले और कोई प्रश्न हो तो जरूर पुछे हम अच्छा लगेगा।

 

 

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •